Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai

Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai

Five-Steps-Jo-Hamari-Safalta-ya-Asaflta-Tay-karte-hai

इन पांच कदमो से तय होगी आपकी सफलता या असफलता

Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai: दोस्तों आज में आपसे शैड हेल्म्सटेटर की बुक क्या कहे जब स्वयं से बात करे से हमारी सफलता या असफलता निर्धारित करने वाले फाइव स्टेप आपसे शेयर करूँगा

जिससे आप आपने आपका एनालिसिस कर पाएंगे। तो चलिए शुरू करते है बिना किसी देरी की काम की बात   

1. व्यवहार यानि की बेहेवियर (Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai)

हमारा व्यवहार हमारी सफलता या असफलता को नियंत्रीत करता है। व्यवहार का अर्थ है – हमारे कार्य। यदि आप सही कार्य करते है तो आपको सही परिणाम ही मिलेगा।

Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai

उदाहरण के तौर पर, यदि  आप अपनी  नौकरी को पसंद करते है, सही समय पर सही काम करते है तो इस बात की  पूरी – पूरी संभावना है  की आपकी नौकरी आपको अच्छा परिणाम देगी।

दूसरी ओर, यदि आप अपनी नौकरी को पसंद नहीं करते और ऐसे हथकंडे अपनाते है, जो नौकरी में आपके विरुद्ध काम करते हो, तो आपकी नौकरी  आपको अच्छा परिणाम नहीं देगी। 

जब हम अच्छे काम करते है, तो हमेशा इस बात की संभावना होती  है की सब कुछ हमारे लिए अच्छा ही होगा, बजाय इसके की हम गलत काम करें।

2. भावनाएँ यानि की फीलिंग्स या इमोशंस (Five Steps Jo Hamari Safalta ya Asafalta Tay karte hai)

हम चाहे जो करे, हमारा प्रत्येक कार्य हमारी भावनाओं से ही प्रभवित होती है।  हम किसी चीज के बारे में कैसे अनुभव करते है, उसी से यह तय होगा की हम कौन सा कार्य करते है और यह भी की हम उसे कितनी अच्छी तरह करते है।

यदि हम किसी चीज के बारे में पॉजिटिव अनुभव करते है, तो हमारा व्यवहार भी पॉजिटिव होगा।  हमारी भावनाएँ सीधे – सीधे हमारे कार्यो पर प्रभाव डालती है।

आपकी सभी भावनाएं आपके कार्यो को प्रभावित  करती है। आप अपनी नौकरी, जीवनसाथी, परिवार, धन, स्वास्थ, या सफलता के बारे में कैसा अनुभव करते है, उसी से यह तय होगा की उस  क्षेत्र में आपका व्यवहार कैसा होगा।

यदि आपकी भावनाएँ Positive और Productive है, तो आपके कार्य भी वैसे ही होंगे।

CAREER MEIN SAFALTA KE 21 MANTRA BOOK SUMMARY IN HINDI

3 दृष्टिकोण यानि की विज़न या एप्रोच

आप अपने दृष्टिकोण से ही जीवन को देख सकते है। कुछ लोगो का दृष्टिकोण अधिकतर चीजों के  बारे में अच्छा होता है, जबकि कुछ का प्रत्येक चीज के बारे में बुरा। 

लेकिन ध्यान से देखने पर आप पाएँगे की हममे से  अधिकांश लोगो का दृष्टिकोण मिक्स्ड होता है।

किसी चीज के बारे में हमारा दृष्टिकोण कैसा है, उससे इस बात पर प्रभाव पड़ेगा की हम उसके बारे में कैसे अनुभव करते है और हमारे अनुभव करने के ढंग से यह तय होगा की हम उस बारे में क्या करेंगे।  उसी से यह तय होता है की हम अच्छा प्रदर्शन कर पाएँगे या नहीं।

4. विश्वास यानि की बिलीफ

आपका अपने  बारे में जो भी विश्वास होता है, वही अंततः आपके कार्यो को प्रभावित करता है। 

इसलिए यदि आप विश्वास करते है की आप सामाजिक रूप से उतने सफल नहीं है, जितने होना चाहिए है, तो आपके बारे में आपका विश्वास सही साबित हो जायेगा, चाहे यह वास्तव में सही यो या न हो। 

वास्तव में, अधिकतर सामाजिक व्यवहार प्रोग्रामिंग के अनुसार ही होता है।  चाहे वह सफल हो या असफल, प्रत्येक सामाजिक आकर्षण इस बात पर आधारित होता है की हमारा आपने बारे में क्या विश्वास है। 

यदि आप स्वय को ही बताते है की आप नहीं कर सकते, तो  आप वास्तव में उस काम को नहीं कर पाएंगे इसलिए हमेशा to do ऐटिटूड रखें। 

5 प्रोग्रामिंग Programing

हम उसी पर विश्वास करते है, जिसके लिए हमारी प्रोग्रामिंग होती है।  जिस दिन हम पैदा होते है, उसी दिन से हमारी प्रोग्रामिंग शुरू हो जाती है। 

इसी प्रोग्रामिंग ने अपने बारे में हमारे आस-पास होने वाली अधिकांश चीजों के बारे में हमारे विश्वास को उत्पन्न किया है। चाहे वह प्रोग्रामिंग सही हो या गलत, सच्ची हो या झूठी, इसका परिणाम हमारे विश्वास ही होता है।

हमारी programing ही हमारे विश्वासों को तय करती है । हम  जो  विश्वास करते है वह हमारे दृष्टिकोण को तय करता है,

हमारी भावनाओं को प्रभावित करता है, हमारे व्यवहार का मार्गदर्शन करता है और हमारी सफलता अथवा असफलता का निर्धारण करता है :

प्रोग्रामिंग से विश्वास बनता है।

विश्वास से दृष्टिकोण बनते है।

दृष्टिकोण से भावनाएँ बनती है।

भावनाओं द्वारा कार्य निर्धारित होता है।

कार्यो से नतीजे निर्धारित होती है।

हमारा मस्तिष्क इसी प्रकार कार्य करती है। यदि आप अपना प्रबंधन करना चाहते है और अपने परिणामो को बदलना चाहते है, तो आप जब चाहें, यह कार्य आरंभ कर सकते है। पहले कदम से आरंभ करें और अपनी प्रोग्रामिंग को बदल दें।

तो दोस्तों आज की इस आर्टिकल में बस इतना ही, उम्मीद है आपको ये आर्टिकल पसन्द आए होंगे और आगे जाके ये आपके काम भी आएगे।

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमैंट कर के जरूर बताये । इस आर्टिकल के ऊपर आप वीडियो निचे दिए गए लिंक से देख सकते है अगर आपको वीडियो पसंद आती है तो हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना मत भूलियेगा

तो मिलते है नेक्स्ट आर्टिकल में। …… थैंक्स फॉर रीडिंग ।

हमारे लेटेस्ट वीडियो को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना न भूले।

S.K. Choudhary

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, मेरा नाम है S.K. Choudhary (ऐस. के. चौधरी) और मैं एक ब्लॉगर और यूटूबर हूँ। में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और मेरा highest एजुकेशन MBA Finance है। मुझे पढ़ने और पढ़ाने का शोख है इसलिए में पार्ट टाइम मैं ब्लॉग लिखता हूँ और यूट्यूब के लिए बुक समरी और मोटिवेशनल वीडियो बनता हूँ।

Leave a Comment