Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

दोस्तों आज में आपसे Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi से Powerful Thought आपसे शेयर करूँगा  तो लिए शुरू करते है पहले थॉट से

Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

शक्ति के बिंदु

  • आपके मन में जो भी बनने, करने या पाने की प्रबल इच्छा है, वह प्रेम की वजह से ही उत्पन्न होती है।

  • प्रेम की सकारात्मक शक्ति किसी भी अच्छी चीज़ का सृजन कर सकती है, अच्छी चीज़ों को बढ़ा सकती है और आपके जीवन की किसी भी बुरी चीज़ को बदल सकती है।

  • आप जीवन में जो देते हैं, वही जीवन में आपको मिलता है। अगर आप सकारात्मकता देते हैं, तो बदले में आपको सकारात्मक चीज़ें मिलती हैं। अगर आप नकारात्मकता देते हैं, तो बदले में आपको नकारात्मक चीज़ें मिलती हैं।

  • जीवन में कुछ भी संयोगवश नहीं होता। आप जो देते हैं, उसी के आधार पर आपको जीवन में हर चीज़ मिलती है।

  • आपकी भावनाएँ और विचार अच्छे हों या बुरे, वे उतनी ही सटीकता से अपने आप आपकी ओर वापस लौटेंगे, जैसे पहाड़ी इलाक़े में शब्दों की गूँज लौटती है।

  • जिन लोगों का जीवन बेहतरीन होता है, वे अप्रिय चीज़ों के बजाय अपनी प्रिय चीज़ों के बारे में ज़्यादा सोचते और बोलते हैं!

  • दिन भर की अच्छी घटनाओं और व्यवहार के बारे में बातचीत करें। अपनी प्रिय और मनचाही चीज़ों के बारे में बातचीत करें। और इस तरह अपनी प्रिय चीज़ों को अपने जीवन में ले आएँ।

  • आपमें अपनी प्रिय चीज़ों के बारे में सोचने और बोलने की अपार क्षमता है, इसलिए आपमें जीवन की हर अच्छी चीज़ को आकर्षित करने की भी अपार क्षमता है!

  • प्रेम करें, क्योंकि जब आप प्रेम करते हैं, तो आप सृष्टि की सबसे प्रबल और महानतम शक्ति का इस्तेमाल कर रहे हैं।

भावनाओं की शक्ति

  • आप इस पल में कैसा महसूस करते हैं, वह किसी भी अन्य चीज़ से ज़्यादा महत्वपूर्ण है, क्योंकि वर्तमान के इस पल की भावनाओं से ही आपके जीवन का निर्माण हो रहा है।

  • आपकी भावनाएँ ही आपके विचारों और शब्दों को शक्ति देती हैं। इसलिए आपकी भावना ही सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है!

  • सभी अच्छी भावनाएँ प्रेम से उत्पन्न होती हैं! सभी बुरी भावनाएँ प्रेम के अभाव से उत्पन्न होती हैं।

  • जब भी आपके मन में अच्छी भावना आती हैं, तो आप प्रेम की शक्ति से जुड़ जाते है, क्योंकि प्रेम ही समस्त अच्छी भावनाओं का स्रोत है।

  • अपनी अच्छी भावनाओं को बढ़ाने के लिए अपनी प्रिय चीज़ों के बारे में सोचें। बिना रुके एक-एक करके अपनी प्रिय चीज़ों की सूची दिमाग़ में तब तक बनाते रहें, जब तक कि आपको अद्‌भुत एहसास न होने लगे।

  • आप अपने जीवन के किसी क्षेत्र के बारे में कैसा महसूस करते हैं, वही इस बात का सटीक प्रतिबिंब है कि आप उस क्षेत्र में कैसी भावनाएँ दे रहे हैं।

  • जीवन अपनी ओर से आपके साथ कुछ नहीं करता है; यह तो आपके विचारों और भावनाओं पर प्रतिक्रिया भर करता है। आपने ही अपने जीवन के हर पहलू का आह्‌वान किया है और आप जो देते हैं, उसी के द्वारा जीवन की हर चीज़ को आमंत्रित करते हैं।

  • आपके द्वारा महसूस की जाने वाली अच्छी भावनाओं के स्तर अनंत हैं, इसलिए आप जीवन में कितनी ऊँचाई पर पहुँच सकते हैं, उसका भी कोई अंत नहीं है।

  • आप जिन चीज़ों से प्रेम करते हैं, वे सब आपको चाहती हैं! धन आपको चाहता है। स्वास्थ्य आपको चाहता है। ख़ुशी आपको चाहती है।

  • यदि आप अपने जीवन की परिस्थितियों को बदलना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको संघर्ष करना या जूझना नहीं है। आपको तो बस अच्छी भावनाएँ रखकर प्रेम देना है। इसके बाद आपकी मनचाही चीज़ अपने आप सामने आ जाएगी!

  • आपको अच्छी भावनाएँ पहले देनी होंगी! सुखद चीज़ें पाने के लिए आपको पहले ख़ुश होना होगा, पहले ख़ुशी देनी होगी! आप जीवन में जो भी पाना चाहते हैं, उसे आपको पहले देना होगा!

भावना की फ़्रीक्वेन्सी

  • सृष्टि की हर चीज़ चुबंकीय है और हर चीज़ की एक चुबंकीय फ़्रीक्वेन्सी होती है, जिसमें आपके विचार और भावनाएँ शामिल है।

  • आपकी भावनाएँ कैसी है – अच्छी या बुरी – इसी से ही आपकी फ़्रीक्वेन्सी तय होती है। और आप उसी फ़्रीक्वेन्सी पर मौजुद लोगों, घटनाओं और परिस्थितियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं!

  • अपनी भावनाओं या एहसास को बदलकर आप किसी भी समय अपनी फ़्रीक्वेन्सी बदल सकते हैं। चूँकि अब आप एक नई फ़्रीक्वेन्सी पर पहुँच चुके हैं, इसलिए आपके चारों ओर की हर चीज़ बदल जाएगी।

  • अगर आपके जीवन में कोई नकारात्मक चीज़ हुई है, तो आप उसे बदल सकते हैं। इसके लिए कभी देर नहीं होती, क्योंकि आप अपने एहसास को, अपनी भावना को कभी भी बदल सकते हैं।

  • कई लोग अपनी भावनाओं को स्वचलित ही रखते है; वे अपने साथ होने वाली घटनाओं पर प्रतिक्रिया करते रहते हैं और उनकी भावनाएँ भी घटनाओं के अनुरूप ही होती हैं। उन्हें यह एहसास ही नहीं होता कि उन्हीं की भावनाओं के कारण ही उनके साथ सब कुछ होता है।

  • किसी भी चीज़ को बदलने के लिए – चाहे यह धन, स्वास्थ्य, संबंध या कोई अन्य क्षेत्र हो – आपको केवल अपनी भावनाओं को बदलना है!

  • दोष देना, आलोचना करना, ग़लती खोजना और शिकायत करना – ये सभी नकारात्मक आदतें हैं और इनकी वजह से लोग बहुत परेशानियाँ झेलते हैं।

  • अपनी शब्दावली से भयंकर, भयानक, बेकार और वाहियात जैसे शब्द बाहर निकाल दें। इसके बजाय ज़बर्दस्त, अद्‌भुत, शानदार, बेहतरीन और ज़ोरदार जैसे शब्दों का इस्तेमाल करें।

  • 51 प्रतिशत अच्छे विचार और भावनाएँ देकर भी आप अपने जीवन के तराजू का काँटा सकारात्मकता की ओर झुका लेते हैं!

  • हर दिन एक नए जीवन का अवसर है, क्योंकि हर दिन आपके जीवन का तराजू आपके ही हाथों में रहता है। और किसी भी दिन अपनी भावनाओं को बदलकर आप अपना भविष्य बदल सकते हैं।

शक्ति और सृजन

  • जीवन में किसी अनचाही चीज़ को बदलने या मनचाही चीज़ को पाने के शक्ति के बिंदु लिए प्रेम की शक्ति का दोहन करने की सृजन प्रक्रिया समान रहती है – इसकी कल्पना करें। इसे महसूस करें। इसे प्राप्त करें।

  • आपकी कल्पना आपको आपकी मनचाही चीज़ से जोड़ती है। आपकी प्रबल इच्छा और प्रेम की भावनाएँ एक चुबंकीय क्षेत्र, एक चुबंकीय शक्ति का निर्माण करती हैं, जो आपकी मनचाही चीज़ को आपकी ओर खींचती है!

  • कल्पना करें कि आप अपनी मनचाही चीज़ के साथ हैं। साथ ही, आप जिसकी कल्पना कर रहे हैं, उसके लिए प्रेम महसूस करें।

  • आप जो चाहते हैं, उसे पूरे दिल से चाहें, क्योंकि इच्छा प्रेम की ही एक भावना है और आप जिसे प्रेम करते हैं, उसे पाने के लिए आपको प्रेम देना ही होगा!

  • जब आप किसी भी सकारात्मक चीज़ की कल्पना करते हैं, जिसे आप चाहते हैं और जिससे आप प्रेम करते हैं, तो आप प्रेम की शक्ति का दोहन कर रहे हैं। अपनी कल्पनाशीलता को तार्किक सरहदों के पार ले जाएँ और अपनी मनचाही चीज़ के सर्वश्रेष्ठ व सर्वोच्च स्वरूप की कल्पना करें।

  • आप अपनी मनचाही जिस चीज़ की भी कल्पना कर सकते हैं, वह पहले से ही मौजूद है! इसमे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि वह कौन सी चीज़ है : यदि आप उसकी कल्पना कर सकते हैं, तो वह पहले से ही सृजन के क्षेत्र में मौजूद है।

  • नाटक के ज़्यादा से ज़्यादा सामानों का इस्तेमाल करें। आपकी मनचाही चीज़ आपके पास पहले से ही है, यह कल्पना और एहसास करने के लिए नाटक की पोशाकों, तस्वीरों, फ़ोटोग्राफ़्स और प्रासंगिक वस्तुओं से ख़ुद को घेर लें।

  • आपकी इंद्रियाँ भी नाटक में मदद कर सकती हैं। आपकी मनचाही चीज़ आपके पास आ चुकी है, इसकी कल्पना के लिए अपनी सभी इंद्रियों का इस्तेमाल करें। इसका स्पर्श महसूस करें, इसका स्वाद लें, इसकी गंध लें! इसे देखें और सुनें!

  • जब आप सृजन की प्रक्रिया पूरी कर लेते हैं, तो आप एक नए संसार में पहुँच जाते हैं, जिसमें आपकी मनचाही चीज़ मौजूद होती है, भले ही आप उसे इस समय न देख सकते हों। जान लें कि वह आपको अवश्य मिलेगी और जल्दी ही मिलेगी!

भावना सृजन है

  • हर व्यक्ति के चारों ओर एक चुबंकीय क्षेत्र होता है। आप जहाँ भी जाते हैं, यह चुबंकीय क्षेत्र भी आपके साथ-साथ जाता है।

  • अपने चुबंकीय क्षेत्र द्वारा ही आप अपने जीवन की हर चीज़ को आकर्षित करते हैं। हर पल आपकी भावनाओं से ही यह तय होता है कि आपका यह क्षेत्र सकारात्मक है या नकारात्मक!

  • हर बार जब आप अपनी भावनाओं, शब्दों या कार्यों के द्वारा प्रेम देते हैं, तो आपके चारों ओर के इस चुबंकीय क्षेत्र में प्रेम बढ़ जाता है।

  • आपके चुबंकीय क्षेत्र में जितना ज़्यादा प्रेम होता है, आपके पास अपनी मनचाही चीज़ों को आकर्षित करने की शक्ति भी उतनी ही ज़्यादा होती है।

  • आपकी इच्छा या मनचाही चीज़ जो भी हो, उसकी कल्पना एक बिंदु की तरह करें! प्रेम की विराट शक्ति के लिए आपकी इच्छा एक बिंदु से भी ज़्यादा छोटी है!

  • आपको नकारात्मक को सकारात्मक में नहीं बदलना है। बस अपनी मनचाही चीज़ के प्रति प्रेम दें, क्योंकि आपकी मनचाही चीज़ के सृजन से सारी नकारात्मकता अपने आप दूर हट जाएगी।

  • जीवन में सिर्फ़ एक ही शक्ति है और वह शक्ति है प्रेम। आप या तो प्रेम से भरा होने के कारण अच्छा महसूस कर रहे हैं या फिर प्रेम से रिक्त होने के कारण बुरा महसूस कर रहे हैं – लेकिन आपकी सारी भावनाएँ प्रेम का ही अंश हैं।

जीवन आपका अनुसरण करता है

  • जीवन आपके सामने हर चीज़ पेश करता है, ताकि आप अपनी प्रिय चीज़ चुन सकें!

  • अगर किसी के पास आपकी मनचाही चीज़ है, तो वैसे ही रोमांच महसूस करें, जैसे यह आपके पास हो। अगर आप उस चीज़ के प्रति प्रेम महसूस करते हैं, तो आप उसे अपनी ओर ला रहे हैं।

  • जब आप अपनी मनचाही चीज़ों को प्यार भरी नज़रों से देखते हैं, तो आप भी उन्हीं चीज़ों की फ़्रीक्वेन्सी पर होते हैं!

  • जीवन के कैटेलॉग में बहुत सी ऐसी चीज़ें भी शामिल होती है जिनसे आप प्रेम नहीं करते, इसलिए बुरी भावनाएँ देकर उनका चुनाव न करें।

  • जिन चीज़ों से आप प्रेम न करते हों, उनसे दूर मुड़ जाएँ और उनके बारे में कोई भावना न रखें। जब भी आपको कोई प्रिय और मनचाही चीज़ दिखे, तो हाँ कह दें।

  • किसी दूसरे की आलोचना करेंगे और उसे दोष देंगे, तो दरअसल आप इसे ख़ुद को दे रहे हैं। किसी दूसरे को प्रेम, प्रशंसा या कोई अन्य अच्छी चीज़ देंगे, तो आप इसे ख़ुद को दे रहे हैं।

  • जहाँ भी लोगों को किसी चीज़ का अभाव दिखता है, वहाँ सिर्फ़ प्रेम का अभाव होता है।

  • आप इसी समय पर्याप्त अच्छे हैं। अगर आपने कोई ग़लत चीज़ कर दी है, तो यह जान लें कि ग़लती का एहसास करने और उसे मान लेने के बाद आकर्षण के नियम ने आपको क्षमा कर दिया है।

  • आपकी मान्यताएँ चाहे सच्ची हों या झूठी, उन्हीं से आपके संसार का निर्माण होता है।

  • आपकी कल्पना आपको दिखने वाले संसार से ज़्यादा वास्तविक है, क्योंकि आपका संसार भी आपकी कल्पना और विश्वास के अनुरूप ही बना है! आप जिसके सच होने पर यक़ीन करते हैं और जिसे सच महसूस करते हैं, वही आपके जीवन में आ जाता है।

  • आप अपनी अच्छी-बुरी जैसी भी कहानी बताते हैं, आकर्षण का नियम उसी को साकार कर देता है और आपके जीवन की वास्तविक कहानी बना देता है। इसलिए अपने अद्‌भुत जीवन की कहानी बताना शुरू करें… आकर्षण का नियम आपके जीवन को सचमुच अद्‌भुत बना देगा।

प्रेम की कुंजी

  • अपने जीवन में प्रेम की चरम शक्ति देखने के लिए आपको वैसे प्रेम करना होगा, जैसे आपने पहले कभी नहीं किया।

  • सिर्फ़ प्रेम देखें, सिर्फ़ प्रेम सुनें, सिर्फ़ प्रेम बोलें और पूरे दिल से सिर्फ़ प्रेम ही महसूस करें।

  • आप कितना ज़्यादा प्रेम महसूस कर सकते हैं, उसकी कोई ऊपरी सीमा या बंधन नहीं है… और वह सब आपके भीतर है! आपका निर्माण प्रेम से हुआ है।

  • हर दिन अपनी प्रिय चीज़ों को चुनकर और महसूस करके आकर्षण के नियम को बताएँ कि आपको किन चीज़ों से प्रेम है।

कृतज्ञता की कुंजी

  • जीवन में आपको जो भी मिला है, हर उस चीज़ के लिए कृतज्ञ रहें (अतीत)। जीवन में आपको जो भी मिल रहा है, हर उस चीज़ के लिए कृतज्ञ रहें (वतर्मान)। आप अपने जीवन में जो भी चाहते हैं, उसके लिए इस तरह कृतज्ञ रहें, जैसे वह आपको मिल चुका है (भविष्य)।

  • आपकी कृतज्ञता आपके जीवन की अच्छी चीज़ों को कई गुना कर देती है। कृतज्ञता नकारात्मक भावनाओं से निकलकर प्रेम की शक्ति के दोहन तक पहुँचाने वाला पुल है!

  • कृतज्ञता की शक्ति से फ़ायदा उठाने के लिए हर दिन इसका अभ्यास करें। जब भी आपके साथ कोई अच्छी चीज़ हो, तो धन्यवाद दें। इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि वह चीज़ कितनी छोटी है, बस धन्यवाद दें।

  • आप जितनी ज़्यादा कृतज्ञता महसूस करते हैं, उतना ही ज़्यादा प्रेम देते हैं… और आप जितना ज़्यादा प्रेम देते हैं, आपको उतनी ही ज़्यादा अच्छी चीज़ें मिलती हैं।

  • फ़ुरसत का हर पल कृतज्ञ होने और अपनी प्रिय चीज़ों को कई गुना करने का अवसर है।

खेल की कुंजी

  • जब आप खेलते और मज़े लेते हैं, तो आपको वाक़ई अच्छा महसूस होता है और आपके जीवन में अच्छी परिस्थितियाँ सचमुच आ जाती है।

  • आकषर्ण के नियम को यह पता नहीं होता कि यह आपकी कल्पना है या वास्तविकता है, इसलिए आप कल्पना और खेल द्वारा जो भी देंगे, वही वास्तविक बन जाएगा!

  • आपकी मनचाही चीज़ जो भी हो, अपनी कल्पना का इस्तेमाल करें, खेल ईजाद करें और खेलें। अपनी मदद के लिए ज़्यादा से ज़्यादा अभिनय सामग्री का इस्तेमाल करें।

  • ऐसा अभिनय करें, जैसे आपकी मनचाही चीज़ इसी समय आपके पास आ चुकी है! जब भी आप प्रबल भावना के साथ इसे महसूस करते हैं, तो आप इसे आकर्षण के नियम की ओर भेज देते हैं और आपकी मनचाही चीज़ आपको मिल जाती है… हर बार!

  • यदि आपको किसी मनचाही चीज़ के मिलने में विलंब होता है, तो ऐसा इसलिए है, क्योंकि वह चीज़ जिस फ़्रीक्वेन्सी पर है, उस एहसास की फ़्रीक्वेन्सी पर पहुँचने में आपको समय लग जाता है।

  • जब आप घटित हो चुकी किसी घटना के बारे में वाक़ई रोमांचित होते हैं और अद्‌भुत महसूस करते हैं, तो उस ऊर्जा को पकड़ लें और अपने सपने की कल्पना करें।

शक्ति और धन

  • प्रेम की आकर्षण शक्ति ही दुनिया के सारे पैसे को चलाती है। जो भी अच्छी भावनाएँ महसूस करके प्रेम देता है, वह पैसे को अपनी ओर खींचने वाला चुबंक बन जाता है।

  • आप एक ही पल में यह जान सकते हैं कि पैसे के बारे में आपकी भावनाएँ क्या हैं। यदि आपके पास ज़रूरत का सारा पैसा नहीं है, तो इसका मतलब है कि आपके मन में पैसे के बारे में अच्छी भावना या एहसास नहीं है।

  • प्रेम ही वह आकर्षण शक्ति है, जो पैसा दिलाती है और प्रेम ही वह शक्ति भी है, जो पैसे को आपसे चिपकाती है!

  • आपको बिल चुकाते समय अच्छा महसूस करने का तरीक़ा खोजना होगा। कल्पना करें कि आपके पास बिल नहीं, चेक आया है। या फिर कृतज्ञता का इस्तेमाल करके बिल भेजने वाली कपंनी को धन्यवाद दें।

  • जब कहीं से भी आपके हाथों में कुछ पैसा आए, तो कृतज्ञ हों, चाहे यह पैसा कितना ही कम क्यों न हो! याद रखें, कृतज्ञता अच्छी चीज़ों को कई गुना बढ़ा देती है।

  • किसी चीज़ के लिए पैसे देते समय प्रेम महसूस करें! इससे आप पैसे जाने का अफ़सोस करने के बजाय ख़ुशी-ख़ुशी पैसे देंगे। इन दोनों भावनाओं के बीच का अतंर बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यही अथाह धन होने और जीवन भर पैसे के लिए सघंर्ष करने के बीच का अतंर है।

  • धन की प्रचुरता के बारे में अच्छा महसूस करने के लिए आप भौतिक मुद्रा का एक खेल भी खेल सकते हैं। हर नोट के सामने वाले हिस्से की कल्पना सकारात्मक पहलू या अमीरी के प्रतीक के रूप में करें। पैसे का लेन-देन करते समय हर बार जान-बूझकर नोटों को इस तरह अलटें-पलटें, ताकि उनका सामने वाला हिस्सा आपको दिखाई देता रहे।

  • यदि आप सफलता के बारे में वाक़ई अच्छा महसूस करते हैं, तो सफलता चाहे किसी की भी हो, वह आकर आपसे चिपक जाएगी!

  • मुनाफ़े या तनख़्वाह में मिलने वाले पैसे के बराबर योगदान दें। अगर आप मिलने वाले पैसे से ज़्यादा योगदान देते हैं, तो आपका व्यवसाय और करियर उड़ान भरने लगेगा।

  • धन सिर्फ़ एक साधन है, जिससे आप जीवन में अपनी प्रिय चीज़ें पा सकते हैं। प्रेम की आकर्षण शक्ति के पास आपकी मनचाही चीज़ आप तक पहुँचाने के अनगिनत तरीक़े हैं; पैसा उनमें से एक है।

  • कल्पना करें कि आप जिन चीज़ों से प्रेम करते हैं, वे आपके पास हैं, आप उन्हें कर रहे हैं और आप उनके मालिक हैं, क्योंकि तब आप बहुत ज़्यादा प्रेम महसूस करेंगे, जो सिर्फ़ पैसे के बारे में सोचने से संभव नहीं है।

  • जीवन का सौंदर्य यह है कि जब आप प्रेम को सबसे ऊपर रखते हैं, तो परिपूर्ण जीवन जीने के लिए ज़रूरी सारा पैसा ख़ुदबख़ुद आपके पास आ जाता है।

और पढ़ें Kanik Neeti Saar Full in Hindi

शक्ति और संबंध

  • आप जिस व्यक्ति के भी सपंर्क में आते हैं, उसे आप या तो प्रेम दे रहे हैं या नहीं दे रहे हैं। और आप जो देते हैं, वही आपको मिलता है।

  • दयालुता, प्रोत्साहन, सहयोग, कृतज्ञता या किसी अन्य अच्छी भावना के माध्यम से दूसरों को प्रेम देंगे, तो यह लौटकर आपकी ओर आएगा और आपके जीवन के हर क्षेत्र में अच्छाई को कई गुना बढ़ा देगा।

  • जब आप किसी संबंध में नकारात्मक चीज़ों के बजाय प्रिय चीज़ों की तलाश करने की ज़्यादा कोशिश करेंगे, तो एक चमत्कार होगा। आपको ऐसा लगेगा, जैसे सामने वाले में कोई अविश्वसनीय परिवर्तन हुआ है।

  • सामने वाले व्यक्ति को बदलने की कोशिश करना प्रेम देना नहीं है! आप जानते हैं कि सामने वाले व्यक्ति के लिए क्या सबसे अच्छा है, यह सोचना प्रेम देना नहीं है! आप सही हैं और सामने वाला ग़लत है, यह सोचना प्रेम देना नहीं है!

  • किसी की आलोचना करना, दोष मढ़ना, शिकायत करना, बार–बार टोंचना या ग़लतियाँ निकालना प्रेम देना नहीं है!

  • प्रेम की शक्ति आपके सामने बहुत सारे व्यक्तिगत भावनात्मक प्रशिक्षक पेश करती है। ये प्रशिक्षक रोज़ मिलने वाले लोगों के वेश में होते हैं, लेकिन वे सभी आपको प्रेम चुनने का प्रशिक्षण दे रहे हैं!

  • आप अपनी हर मनचाही और प्रिय चीज़ को अपने जीवन में चिपका सकते हैं। इसके लिए तो आपको बस दूसरों में अपनी प्रिय चीज़ों की तलाश करनी है और दिल से हाँ कहना है!

  • नकारात्मक बात बोलते या सुनते समय आपमें अच्छी भावनाएँ हो ही नहीं सकतीं!

  • जीवन आपके सामने हर प्रकार के व्यक्ति और परिस्थितियाँ पेश कर रहा है, ताकि आप यह चुनाव कर सकें कि आप किसे प्रेम करते हैं और किसे नहीं करते। आप हमेशा अपनी भावना द्वारा प्रतिक्रिया करते हैं और इसी से आप प्रेम करने या न करने का चुनाव करते हैं!

  • बुरी भावनाओं से आप अपने जीवन की किसी भी नकारात्मक स्थिति को नहीं बदल सकते। यदि आप नकारात्मक प्रतिक्रिया करते हैं, तो आपकी बुरी भावनाएँ नकारात्मकता को बढ़ाकर कई गुना कर देंगी।

  • यदि आप ज़बर्दस्त महसूस करते हैं, तो आपके चुबंकीय क्षेत्र की शक्ति एक ऐसा कवच बना लेती है, जिसे कोई नकारात्मकता नहीं भेद सकती।

  • बाहरी संसार की परिस्थितियों को बदलने की कोशिश में ज़मीन-आसमान एक करने की तुलना में अपने एहसास को बदलना ज़्यादा आसान है। भावनाओं को बदलते ही बाहरी परिस्थितियाँ अपने आप बदल जाएँगी!

  • आप जितना ज़्यादा प्रेम देते हैं और अच्छा महसूस करते हैं, आपका क्षेत्र उतना ही ज़्यादा चुबंकीय बनता और फैलता है तथा आपके हर प्रिय व्यक्ति और वस्तु को आपकी ओर आकर्षित करता है!

शक्ति और स्वास्थ्य

  • आप अपनी धारणाओं या प्रबल भावनाओं से अपने शरीर को लगातार जो देते हैं, वह वैसा ही बन जाता है। आपकी हर भावना आपके शरीर की हर कोशिका और अंग पर असर डालती है।

  • आप एक साम्राज्य के सम्राट हैं और आपकी कोशिकाएँ आपकी सबसे वफ़ादार सेवक हैं, जो बिना कोई सवाल किए आपकी सेवा करती हैं। इसलिए आप जो भी सोचते या महसूस करते हैं, वह आपके साम्राज्य का नियम बन जाता है – आपके शरीर के भीतर का नियम।

  • जब आप किसी अनचाही चीज़ के नकारात्मक विचार और भावनाएँ मन में रखते हैं, तो आपकी कोशिकाओं की स्वास्थ्य शक्ति कम हो जाती है! लेकिन जब आप किसी अच्छी चीज़ – सुहाने दिन, नए मकान, दोस्त या प्रमोशन – के प्रति प्रेम महसूस करते हैं, तो आपके शरीर को स्वास्थ्य की संपूर्ण शक्ति प्राप्त होती है।

  • कृतज्ञता से अच्छी चीज़ें कई गुना होती हैं, इसलिए हर दिन अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए धन्यवाद दें।

  • अपने शरीर की नापसंद चीज़ों को नज़रअंदाज़ कर दें और प्रिय चीज़ों के लिए दिल से धन्यवाद दें।

  • अपना स्वास्थ्य सुधारने के लिए आपको सिर्फ़ 50 प्रतिशत से ज़्यादा बार प्रेम देना है। महज़ 51 प्रतिशत प्रेम भी तराजू के काँटे को बीमारी से स्वास्थ्य की ओर झुका देता है।

  • अगर आपको किसी तरह की बीमारी हो, तो अपने विचारों और शब्दों में उसका उल्लेख न करें। इसके बजाय स्वास्थ्य के प्रति प्रेम दें, अपने स्वस्थ होने की कल्पना करें और इसे साकार कर लें।

  • आदर्श वज़न, आदर्श शरीर, आदर्श स्वास्थ्य के प्रति प्रेम दें। इनके होने की कल्पना करें और अपनी हर चीज़ के लिए पूरी तरह कृतज्ञ रहें!

  • यदि आपको यह विश्वास है कि उम्र के साथ-साथ आपका शरीर कमज़ोर होगा, तो आकर्षण का नियम इस धारणा को आपके जीवन में सच करके वैसी ही परिस्थितियाँ बना देगा।

शक्ति और आप

  • हर चीज़ की एक फ़्रीक्वेन्सी होती है – हर चीज़ की! आप जो कुछ भी महसूस करते हैं, उसी फ़्रीक्वेन्सी पर मौजूद चीज़ें आपको जीवन में मिलती हैं।

  • जीवन आपकी भावनाओं पर प्रतिक्रिया कर रहा है। आप जो भी देखते हैं – हर साइनबोर्ड, रंग, व्यक्ति, वस्तु – आप जो भी सुनते हैं, वह हर परिस्थिति और घटना आपकी फ़्रीक्वेन्सी पर है।

  • जब आप ख़ुशी महसुस करते हैं और लगातार ख़ुशी ही महसूस करते हैं, तो सिर्फ़ ख़ुशहाल व्यक्ति, परिस्थितियाँ और घटनाएँ ही आपके जीवन में आ सकती हैं।

  • जीवन में संयोग या दुर्घटना जैसी कोई चीज़ नहीं होती – हर चीज़ समकालिक है – क्योंकि हर चीज़ की एक फ़्रीक्वेन्सी होती है। यह जीवन और क्रियाशील ब्रह्मांड की भौतिकी है।

  • किसी ऐसी चीज़ के बारे में सोचें, जिससे आप प्रेम करते हों। इसे प्रेम की शक्ति का प्रतीक बना लें। जब भी आप अपने प्रतीक को देखेंगे या सुनेंगे, तो आप जान जाएँगे कि प्रेम की शक्ति आपके साथ है।

  • अपने हर काम में प्रेम की शक्ति को अपने आगे भेजें। किसी भी काम को करने से पहले यह कल्पना करें कि आप दिन में हर चीज़ अच्छी तरह कर रहे हैं। साथ ही, अपने मन में ज़्यादा से ज़्यादा प्रेम महसूस करें।

  • हर दिन सवाल पूछें। जब आप सवाल पूछते हैं, तो आपको जवाब अवश्य मिलेगा!

  • आप अपने जीवन के किसी भी क्षेत्र में प्रेम की शक्ति का दोहन कर सकते हैं। प्रेम की शक्ति है। आपकी व्यक्तिगत सहयोगी है, धन प्रवंधक है, व्यक्तिगत स्वास्थ्य प्रशिक्षक है, संबंध परामर्शदाता है।

  • यदि आपका दिमाग़ बहुत सारी छोटी-छोटी चीज़ों में ही उलझा रहेगा, तो ये चीज़ें आपको भटका देंगी और नीचे ले आएँगी। अपने जीवन को सरल बनाएँ और छोटी-छोटी चीज़ों को ज़रूरत से ज़्यादा महत्व न दें। यह सवाल पूछें, इससे मेरे पूरे जीवन पर कितना फ़र्क़ पड़ेगा?

  • प्रेम की शक्ति का कोई विरोधी नहीं है। जीवन में प्रेम के सिवाय कोई शक्ति है ही नहीं। आप संसार में जितनी भी नकारात्मक चीज़ें देखते हैं, वे हमेशा प्रेम की कमी का परिणाम होती हैं।

और पढ़ें: Vidur Niti Saar Sampoorn in Hindi

शक्ति और जीवन

  • आपका अस्तित्व हमेशा से रहा है और हमेशा रहेगा, क्योंकि आप सृष्टि का अंश हैं।

  • आप, आपके हर परिचित और इस पृथ्वी पर पैदा हुए हर व्यक्ति का कभी अतं नहीं होता!

  • पृथ्वी पर स्वर्ग पाने के लिए अपने वास्तविक स्वरूप की फ़्रीक्वेन्सी पर जिएँ – शुद्ध प्रेम और आनंद की फ़्रीक्वेन्सी।

  • जीवन का महानतम आनदं देने में है, क्योंकि जब तक आप देंगे नहीं, तब तक आप ज़िंदा रहने के लिए हमेशा सघंर्ष ही करते रहेंगे।

  • आपका प्रेम, आपका आनंद, आपकी सकारात्मकता, आपका रोमांच, आपकी कृतज्ञता और आपका जोश ही जीवन की वास्तविक और हमेशा क़ायम रहने वाली चीज़ें हैं। संसार की सारी दौलत भी सृष्टि के सबसे अनमोल उपहार – आपके भीतर के प्रेम – के क़रीब भी नहीं आ सकती!

  • अपना प्रेम दें, क्योंकि यही संसार की सभी प्रकार की संपत्तियों को खींचने वाला चुंबक है।

  • इस जीवन में अगर आप सकारात्मकता को चुनते हैं, अच्छा महसूस करने का चुनाव करते हैं, तो आप अपना प्रेम दे रहे हैं और उससे पूरी दुनिया को रोशन कर रहे हैं।

Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi

तो दोस्तों इस आर्टिकल में (Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi) बस इतना ही आपको ये आर्टिकल (Powerful Thought from Ronda Byrne Book the Power in Hindi) कैसी लगी हमें कमेन्ट कर के जरूर बताये। अगर आप इस बुक का कम्पलीट वीडियो समरी देखना चाहते है तो ऊपर दिए लिंक से देख सकते है।

हमारे लेटेस्ट वीडियो को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना न भूले।

S.K. Choudhary

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, मेरा नाम है S.K. Choudhary (ऐस. के. चौधरी) और मैं एक ब्लॉगर और यूटूबर हूँ। में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और मेरा highest एजुकेशन MBA Finance है। मुझे पढ़ने और पढ़ाने का शोख है इसलिए में पार्ट टाइम मैं ब्लॉग लिखता हूँ और यूट्यूब के लिए बुक समरी और मोटिवेशनल वीडियो बनता हूँ।

Leave a Comment