The 5 AM Club Book Summary in Hindi by Robin Sharma

Page Tag: The 5 AM Club: Own Your Morning, Elevate Your Life, The 5 AM Club Book Summary in Hindi by Robin Sharma, The 5am club robin Sharma,  the 5am club hindi, morning habits in hindi, morning habits of successful people, how to wake up early

आज में आपसे Robin Sharma की बुक  The 5 AM Club: Own Your Morning, Elevate Your Life की समरी शेयर करूँगा दोस्तों  इस आर्टिकल  से आप सीखेंगे  सुभह 5 बजे उठने के 20/20/20 फार्मूला के  बारें और 4 इंटीरियर एम्पायर के बारे में ।

तो आईये स्टार्ट करते है आज की कहानी

एक बिज़नेस सेमिनार चल रहा था जहा पर एक मशहूर बिज़नेस गुरु स्पेल बाइंडर स्पीच दे रहे थे।  ओडीएनस में   एक था उदास उद्यमी और दुसरी थी  एक निराश कलाकार।  इन दोनों ने आपस में बात करना सुरु कर दिया तो एकदम पीछे से एक गरीब आदमी आया जो पहुत पुराणा कपड़ा पहना हुआ थे पर एक अजीब बात ये थी की उसने अपने हाथ में बहुत ही कीमती  घड़ी पहन रखा  था . उद्यमी और कलाकार इस रहस्यमय आदमी के बारे में अधिक जानने  के लिए उत्सुक हो गए और  उनसे बात करना स्टार्ट किया तो उन्हें पता चला की वो गरीब नहीं बल्कि एक करोड़पति है वो पुराने कपड़े इसलिए पहनता  है ताकि खुद को याद दिला सके की  वो कहा से आया है और पैसा सबकुछ  नहीं है गरीब दिखने वाले उस अरबपति  ने स्पेल बाइंडर का धन्यबाद करते हुए उन लोगो की बताया की उन्ही से उसने अपनी कामयाबी पाना सीखा।  दुनिया में ज्यादा तर लोग चाहते है की  उनके साथ एक्स्ट्रा ऑर्डनरी चीजे ही हो जबकि दुनिया केअल्ट्रा ऑर्डनरी  लोग कुछ एक्स्ट्रा अल्ट्रा आर्डिनरी चीजे  करना चाहते है.  ये सुनके  उद्यमी और कलाकार इस रहस्यमय आदमी के बारे में अधिक जानने को  उत्सुक हो गए, जो खुद एक गुरु की तरह बात कर रहा था और उसने डिटेल में बताया की कैसे उसके पर्सनल मेंटर स्पेल बाइंडर ने एक बात सिखाई थी जो किसी भी बात से ज्यादा महत्वपूर्ण थी। (The 5 AM Club Book Summary)

The 5 AM Club Book Summary in Hindi  

The 5 AM Club Book Summary in Hindi by Robin Sharma

The 5 AM Club Book Summary in Hindi  

उसने  कहा की बहुत अच्छे रिजल्ट पाने के लिए सक्सेसफूल  लोगों का एक वर्ल्ड क्लास तरीका उसे मालूम है । अरबपति  उन्हें  वो तरीका फ्री में सीखने को तैयार था बसर्ते अगले दिन  उनसे सुभह 5 बजे मिले।  अगली सुभह  उद्यमी और कलाकार दोनों  थोड़े डाउटफुल और कंफ्यूज थे लेकिन वे तब सहज महसूस करने लगे जब एक चालक समेत रोल्स रॉयल ने उन्हें पिक किया और उन्हें पर्सनल जेट में पहुंचाया जिसपर 5 ऐ सी नाम का लोगो लगा हुआ था।  जब उद्यमी ने चालक से पूछा की उस लोगो का क्या मतलब है तो तो उसने बताया की उस लोगो का मतलब 5 ए.एम क्लब था  और वही से उसकी एक क्रन्तिकारी  मॉर्निंग रूटीन की जर्नी शुरू हो गयी जिससे वो अपनी जिंदगी को और बेहतर बना सकते थे । (The 5 AM Club Book Summary)

सुबह 5 बजे का एकांत  और क्रिएटिव मेन्टल स्टेट आपको ऐलीट परफ़ॉर्मर की तरह परफॉर्मेंस करने में मदद करेगा।  उस अरबपती ने उन्हें बताया की 5 बजे उठने की वजह से वो अपना पर्सनल लाइफ बदल सका और बहुत ऊंचाई तक पहुंच पाया और वो एक अगरबपति बन गया उसकी क्रिएटिविटी बढ़ी, एनर्जी डबल हो गयी और प्रोडक्टविटी 3 गुना बढ़ गयी। सुभह 5 बजे उठने से जो आइसोलेशन होता है उसका  कई गुना असर होता है  उसने कहा हम सब के दिमाग की एनर्जी यानि कॉगनिटिव बैंडविड्थ लिमिटेड होती है और हम लोग पुरे दिन भर में बहुत सारी चीजें करते हैं और अलग अलग चीजों पर हम अपनी अटेन्शन देते है तो धीरे धीरे हमारी एनर्जी कम होती जाती हैं जबतक लंच टाइम आता हैं तबतक हम किसी चीज पर कंसन्ट्रेट करने की  हालत में नहीं होते है क्योकि हमारे दिमाग की बैंडविड्थ लगभग ख़त्म हो जाती है बार बार हमें आपन फोकस शिफ्ट करना पढता है।  एक चीज से दुसरी चीज पर और हम लोग किसी एक चीज पर ज्यादा देर तक ध्यान नहीं दे पाते । लेकिन अगर आप सुबह के 5 बजे उठते है तो आपके पास पूरी  तरह से फोकस करने की गोल्डन ओप्पोरचुनिटी होती है ।

सुभह 5 बजे आप अपनी सोच में स्टेट ऑफ़ फ्लो अचीव करने के लिए अच्छी तरह से तैयार रहते है।  उस अरबपति ने कहा की ये इसलिए होता है की जब आप 5 बजे उठ जाये और बहुत पीसफुल तरीके  अपने दिन की शुरुआत करें तो आपके दिमाग का प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स  जो आपके रैशनल थॉट को कण्ट्रोल करता है वो कुछ देर के लिए बंद हो जाता है तो इसका बहुत इम्पोर्टेन्ट मतलब है की आपमें से काफी लोगों को ओवर थिंकिंग की प्रॉब्लम होती होगी, स्ट्रेस होता होगा आप चीजों के बारें सोचते होंगे।  ये चीजे जब आप 5 बजे सुभह उठते है तो बहुत कम हो जाती है आप अपने आप से एक फ्लो स्टेट में आ जाते है आपका दिमाग पुरे तरीके से काम करता है वो भी पुरे एनर्जी के साथ आप फोकस्ड होते है और आप कही भी डिस्ट्रक्ट नहीं होते क्योकि आप ओवर थिंकिंग नहीं करते हैं।  अगर आप 5 बजे उठेंगे तो आप और ज्यादा फोकस्ड और प्रोडक्टिव रहेंगे। (The 5 AM Club Book Summary)

अब सवाल ये उठता है की सुबह उठकर  क्या करे ऑथर के अनुसार आपके सुबह का पहला घंटा आपका विक्ट्री आवर होता है आपको आपने पहले घंटे को २०/२०/२०  मिनट्स में डिवाइड करना है और पहले 20 मिनट में  वर्क आउट करना है।  ऐसा वॉकआउट करना है जिससे आपको पसीना आ जाये  मतलब  उच्च तीव्रता (High intensity) वर्क आउट करना है। जैसे की आप रनिंग कर सकते हो या कोई भी कार्डियो  वर्क आउट कर सकते है।  अगर हम उठते ही एक्सरसाइज स्टार्ट करते हैं तो इससे हमारी एनर्जी और फोकस बहुत ज्यादा इन्क्रीज हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है  क्योंकि जब हम एक्सरसाइज करते हैं तो हमारी ब्रेन में बीडीएनए नाम का एक केमिकल रिलीज होता है जो हमारी स्ट्रेस  लेबल को कम करता है और हमारे ब्रेन में न्यूरो कनेक्शन की प्रोसेस को  बढ़ाता है। जिससे हमारा फोकस और थिंकिंग पावर इंप्रूव हो जाती है। टॉप 5% एलीट परफ़ॉर्मर की रिजल्ट को अचीव करने के लिए आपको वो करने की जरुरत है जो 95% उद्दामी, कलाकार और अन्य लोग करने को तैयार नहीं है।  अधिकांश लोग सुभह 5 बजे उठने को तैयार नहीं होते  इसलिए अगर आप तैयार है तो आपको बहुत बढ़ा कॉम्पिटिटिव एडवांटेज होगा ।

अगले 20 मिनट में  आपको शांति से बेठकर उनके लिए अपना आभार जताना है जिनके होने से आपकी जिंदगी में खुशियां हैं। इसके साथ ही आपको अपने  गोल्स पर फोकस करना है। सोचिए कि आज के दिन आपके लिए सबसे जरूरी क्या है? किस तरह से आप उसे करेंगे। आपका लक्ष्य क्या है और आप अभी उससे कितने दूर हैं इन सभी बातों को एक डायरी में लिख  लीजिये जिसे ऑथर जौर्नलिंग करना बोलते है गोल्स को  लिख लेने से उनके पूरे होने की पॉसिबिलिटी बहुत बढ़ जाती है। इसलिए गोल्स जरूर लिखे ऐसा करने से हमें अपने लाइफ में ज्यादा क्वालिटी मिलती है कि हमारे लिए क्या-क्या इंपॉर्टेंट हम समझ पाते है। ये सब करने के बाद अगर टाइम बच जाता है तो आप इस समय में मैडिटेशन भी कर सकते है।

लास्ट के 20  मिनट,  5:40 से 6:00  बजे तक आपको आपना  नॉलेज बढ़ाना।  यानी हमें   अपने फील्ड में नॉलेज गेन करनी है। इसके लिए आप  बुक्स पढ़ सकते हैं। महान लोगों की बायोग्राफी पढ़ सकते हैं।  बुक समरी देख  सकते  है जो आपको पहले से बेहतर इंसान  बना सके तो सुभह के पहले  घंटे में ये सारे काम करके आप अपने माइंड से नेगेटिव इमोशंस और अपनी बॉडी से नेगेटिव केमिकल्स को बाहर निकाल सकते हो।

The 5 AM Club Book Summary in Hindi

The 5 AM Club Hindi Book Summary by Robin Sharma

The 5 AM Club Book Summary in Hindi


फोर  इंटीरियर एंपायर 

एक सक्सेसफुल इंसान बनने के लिए ऑथर हमें अपने अंदर 4 पिलर को स्ट्रांग करने के लिए कहते है और ये है माईंड सेट, हार्ट सेट, हेल्थ सेट और सोल सेट तो आईये हर एक को विस्तार में समझते है ।

माईंड सेट – माईंड सेट 2 तरह का होता है फिक्स्ड माईंड सेट और ग्रोथ माईंड सेट ।

फिक्स्ड माईंड सेट वाले लोगो का मानना है कि उसके गुण पत्थर की लकीर हैं और उसे किसी भी तरह  से बदला नहीं जा सकता।  ऐसे लोगों की नज़र में असफल व्यक्ति की कमियों को दर्शाती है और उसके लिए प्रयास करना तभी मायने रखता है जब तक  सफलता की 100% उम्मीद ना हो। Growth Mindset में पोटेंशियल वह क्षमता है जिसमें कुछ वक़्त में थोड़े प्रयास के साथ स्किल्स को डेवेलोप किया जा सकता है। नासा ने अपने एस्ट्रोनॉट्स के पोटेंशियल को इस तरह पहचाना कि उन्होंने सफलताओं को पाने वाले एस्ट्रोनॉट्स की भर्ती के बजाय, उन एस्ट्रोनॉट्स को चुना जिन्होंने फेलियर का सामना किया हो और अपनी फेलियर से सीखकर सफलता के झंडे गाड़े हैं। Growth Mindset वाले लोग अक्सर जीत जाते हैं ऐसा इसलिए नही क्योंकि जीत ही उनके लिए सब कुछ है बल्कि वे इसलिए जीतते हैं क्योंकि वे जो भी काम करते हैं ख़ुशी से करते हैं।

The 5 AM Club Book Summary in Hindi

माईंड सेट हमारी कामयाबी में सिर्फ 25% ही कंट्रीब्यूट करते है ।

हार्ट सेट  – हमारा हार्ट सेट हमारी इमोशनल लाइफ से कनेक्टेड है । अगर सिर्फ माइंडसेट ही इंप्रूव्ड है तब भी हम अच्छे निर्णय नहीं ले सकेंगे। अगर हमारा अपने फ्रेंड्स और फैमिली मेंबर से संबंध अच्छा नहीं है।  पुरानी बातों को हमेशा सोच सोच कर परेशान रहते है ,  लोगों को माफ नहीं करते है ,  इमोशन दिल में दबा कर रख लेते है तो तब भी हम आगे नहीं बढ़ सकते।  इसलिए दोस्तों आपको दूसरों की भावना को समझना आना चाहिए। किसी भी चीज पर जल्दी से प्रतिक्रिया  कर देने से और जल्दी से गुस्सा हो जाने से भी आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे  क्योंकि इस तरह से आप कभी किसी से जुड़ नहीं पाएंगे।  आप का खुद पर नियंत्रण नहीं होगा और आप सिर्फ एक मीडियोकर जिंदगी ही जियेंगे ।

हेल्थसेट – दोस्तों माईंड सेट और हार्ट सेट के बाद आता है हेल्थ सेट।  अगर आपका हेल्थ ठीक नहीं है तो आप आपने आपको ग्रो नहीं कर पाएंगे इसलिए दोस्तों ये जरुरी हो जाता है की आप अपने हेल्थ को बेस्ट कंडीशन में रखे।  हर रोज अपनी हेल्थ के लिए टाइम निकालिये और एक्सरसाइज कीजिये। आपको ये नहीं सोचना की एक्सरसाइज करने से टाइम वेस्ट होगा।  टाइम वेस्ट तो तब होता है जब आप फिजूल में सोशल मीडिया को स्क्रॉल करने में बिता देते है। अगर आपको हेल्थ की वैल्यू समझनी है तो आप आपने  घर के पास के  किसी  हॉस्पिटल में जाकर  देखिये।  आपको अपनी हेल्थ की वैल्यू समझ आ जाएगी।   

इन तीनों में अच्छा होने के बावजूद हमारी जिंदगी का अंतिम महत्वपूर्ण पिलर आता  है  जिसके बिना हम इनकंप्लीट है और वह है सोलसेट ।

सोलसेट – ऑथर बोलते हैं कि हर रोज हमें सुबह  कुछ टाइम निकलना चाहिए और शांति में अकेले बैठकर यह जानने की कोशिस करना चाहिए की हम एक्चुअल में है क्या।  खुद को आपने शोल से कनेक्ट करने के लिए हमें मैडिटेशन करना चाहिए ।  जब आप आपने सोलसेट पर फोकस करेंगे  तो आप अपने बेस्ट वर्जन से कनेक्ट हो सकेंगे और दुनिया को एक अलग नजरिए से देखेंगे। आपके लिए फिर मटेरिअलिस्टिक चीजों की कोई अहमियत नहीं होगी और आपके लिए सबसे  ज्यादा जरूरी, मजेदार  और शांति देने वाली चीज आपको अंदरूनी खुशी देगी।

ये भी पढ़ें :

तो दोस्तों आज की इस आर्टिकल (The 5 AM Club Book Summary) में बस इतना ही , उम्मीद है आपको ये आर्टिकल (The 5 AM Club Book Summary) पसन्द आए होंगे और आगे जाके ये आपके काम भी आएगे। आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमैंट कर के जरूर बताये । इस आर्टिकल के ऊपर आप वीडियो निचे दिए गए लिंक से देख सकते है अगर आपको वीडियो पसंद आती है तो हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना मत भूलियेगा तो मिलते है नेक्स्ट आर्टिकल में। …… थैंक्स फॉर रीडिंग ।

हमारे लेटेस्ट वीडियो को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना न भूले।

S.K. Choudhary

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, मेरा नाम है S.K. Choudhary (ऐस. के. चौधरी) और मैं एक ब्लॉगर और यूटूबर हूँ। में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और मेरा highest एजुकेशन MBA Finance है। मुझे पढ़ने और पढ़ाने का शोख है इसलिए में पार्ट टाइम मैं ब्लॉग लिखता हूँ और यूट्यूब के लिए बुक समरी और मोटिवेशनल वीडियो बनता हूँ।

Leave a Comment