The richest man in Babylon in Hindi

दोस्तों इस लेख (The richest man in Babylon in Hindi) के माध्यम से में आपसे आज George S Clason की बुक The Richest Man In Babylon Hindi Summary (Babylon Ka Sabse Amir Aadmi) शेयर करने जा रहा हूँ, इस इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप बचत करने की आदत को डेवेलप कर पाएंगे और 7 Secret to Save Money and Become Rich जान पाएंगे।

बैबिलॉन का सबसे अमीर आदमी आर्थिक सफलता के शाश्वत रहस्य धन-दौलत पर लिखी सबसे प्रेरक पुस्तक हैं। इस पुस्तक में दिए गए सिद्धांतों का प्रयोग करके आप अपनी इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं और अपने सपनों को साकार कर सकते हैंI इस पुस्तक में दौलतमंद बनने का रहस्य बताया गया है I धन, आर्थिक योजना और व्यक्तिगत दौलत के विषय पर इसे सर्वश्रेष्ठ प्रेरक पुस्तक कहा जाता है I

The richest man in Babylon in Hindi

The-richest-man-in-Babylon-in-Hindi

The richest man in Babylon in Hindi

शुरू करते है

प्राचीन बैबिलोन में आर्कड नाम का बहुत अमीर आदमी रहता था। वह दिल खोलकर दान देता था और खुले हाथों से खर्च करता था पर फिर भी हर साल उसकी दौलत बढ़ता रहता था वही उसके बचपन के दोस्त अभी भी गरीब थे। एक दिन उसके दोस्तों ने उससे कहा कि तुम इतने आमिर हो और हम आज भी गरीब ही है पर एक समय था जब हम एक जैसे गरीब थे, तो तुम इतने अमीर कैसे बन गए। इस पर आर्काद ने कहा, की अगर तुम लोगों को पैसे की दिक्कत आ रही है तो इसका कारन यह है कि तुम लोग दौलत इकट्ठी करने के नियाम कों को नहीं जान पाए हो और यही नियम मैंने अलगेमिश से सीखा था जिससे में आमिर बन पाया।

अलगामीश ने मुझे बताया था कि जिन्दा रहने के लिए हम सब को पेय करते है। ग्रोसरी शॉप वाले को, टेलर को, मोची को और भी ऐसे कई लोगों को हमें पेय करना पढता जो हमारी ज़रूरतों को पूरा करते है पर हम खुद को कभी पेय नहीं करते इसलिए हम गरीब बने रहते है अलगेमिश ने मुझे बताया था कि हमें अपने कमाई का एक हिस्सा खुद रखना चाहिए अगर हम ऐसा करते है तो हम जल्द ही दौलत की राह पर आगे पहुँच जायेंगे चाहे हमारी कमाई कितनी ही काम क्यों न हो मतलब हमारी बचत हमेशा हमारे सैलरी का 10% होना चाहिए इससे ज़्यादा आप जितना बचा सकते है।

पहले खुद को पेय करो और बची हुई कमाई से अपना खर्च चलाओ। इसके बाद अलगामीश ने मुझे बताया कि अपने बचत को इन्वेस्ट करो और इन्वेस्ट करने से पहले उस क्षेत्र के जानकर से सलाह लो इससे आपका पैसा के गुनागुना बढ़ता रहेगा।

इसके बाद आर्केड ने अमीर बनाने के 7 सेक्रेस्ट अपने दोस्तों को बताया

The richest man in Babylon in Hindi

The richest man in Babylon in Hindi

1. अपने पर्स को मोटा करना शुरू करें

अपने पर्स में डेल गए दस सिक्कों में से सिर्फ़ नौ सिक्के बहार निकालें। जब आप अपनी सिर्फ़ नब्बे % आमदनी ही खर्च करेंगे, तो जल्दी ही आपका पर्स मोटा होने लगेगा। मेने भी इसी तरह शुरुआत की थी। पहले मेरा पर्स भी हमेशा खाली रहता था और में इसे कोसा करता था, क्योकि इच्छाओं को संतुष्ट करने के लिए धन नहीं रहता था। लेकिन जब मेने अपने पर्स में दस सिक्के डालकर सिर्फ़ नौ सिक्के बहार निकलना शुरू किया तो यह भरी होने लगा। इस उपाय पर चलने से आपका पर्स भी भरी हो जायेगा और आपको भी बचत की आदत पढ़ जाएगी।

आर्केड कहते है अगर आप किसी डलिया में हर सुभह दस अंडे रखे और हर शाम उससे 9 अंडे निकले तो कुछ समय बात क्या होगा-जाहिर-सी बात है वह दलीय पूरी तरह भर जाएगी और यही नियम आपके बचत पर भी लागू होता है (The richest man in Babylon in Hindi)

2. खर्च को नियंत्रित करें

आर्केड ने कहा कि हमारे आवश्यक खर्च हमेशा हमारी आमदनी के अनुपात में बढ़ते रहेंगे, जब तक इन्हे रोकने की कोशिश न करें। आवश्यक खर्च और अपनी इच्छाओं के बिच के फर्क को नजरअंदाज न करें। आपकी आमदनी से आपकी जितनी इच्छाएँ संतुष्ट हो सकती है, आपकी और आपके परिवार की इच्छाएँ उससे कही ज़्यादा होती है। उन इच्छाओं के संतुष्टी के लिए आमदनी कम पढ़ जाती है और बहुत-सी इच्छाएँ ऐसी रह जाती है जो संतुष्ट नहीं हो पाती।

अपनी जीवनशैली और खर्च की आदतों के बारे में अच्छी तरह सोचें। ऐसा करने पर आपको कुछ ऐसे खर्च ज़रूर मिलेंगे, जिन्हे कम या ख़त्म किया जा सकता है। यह लक्ष्य बना ले की आप जो भी सिक्का खर्च करें, उसके बदले में आपको शत प्रतीशत संतुष्टी मिले। इसलिए आप जिन चीजों के लिए खर्च करना चाहते हो, उन्हें लिख ले। सिर्फ़ आवश्यक चीजों को चुने। इसके अलावा सिर्फ़ उन्ही चीजों को चुने, जो आपकी नब्बे प्रतीषत आमदनी में संभव हों। बांकी सब चीजों को उन्हें अपनी असीमित इच्छाओं क हिस्सा मान ले, जो संतुष्ट नहीं होगी। फिर अपने आवश्यक खर्च का बजट बना ले।

आपका बजट अंधेरी गुफा में चमकती मशाल की तरह आपको दीखता है आपके पर्स में कहा छेड़ हो रहे है। उन छेदों को सिलने में आपकी मदद करता है बजट आपके खर्च को इस तरह से नियन्त्रिक करता है, ताकि आप सिर्फ़ निश्चित और संतुष्टिदायक उद्देश्यों के लिए ही खर्च करें। ताकि आपके पास अपनही आवश्यकताओं कोपूरा करने के लिए पैसा रहे और आप नब्बे प्रतिशत आमदनी में ही आपके बांकी महत्त्वपूर्ण इच्छाओं का आनंद ले सके था उन्हें संतुष्ट करे सके। (The richest man in Babylon in Hindi)

3. अपने धन को कई गुना बढ़ाएँ

आर्केड ने बताया की पर्स में रखा धन अच्छा लगता है और कंजूस आदमी को संतोष देता है, परन्तु यह आमदनी को बढ़ता नहीं है। अपनी आमदनी में से धन बचाना तो सिर्फ़ शुरुआत है उस बचत से जो आमदनी होगी, उसी से हम दौलतमंद बनेंगे। दौलत पर्स में खनखना रहे सिक्कों से नहींबंटी बनती है। दौलत तो निवेश से प्राप्त आमदनी से बनती है। हर इंसान यही चाहता है कि उसके पर्स में लगातार आमदनी आती रहे, भले ही वह मेहनत करे या कही सैर-सपाटे पर चल जाएँ।

आइये इसे एक एक्साम्पल से समझते है-एक किसान ने अपने पहले पुत्र के जन्म पर साहूकार के पास चांदी के दस सिक्के ब्याज पर जमा करा दिए। उसने साहूकार से कहा कि जब उसका पुत्र बीस साल का हो जाये, तो वह मुलधन को सूद सहीत लौटा दे। साहूकार हर चार साल में पच्चीस पर्तिशत ब्याज देने के लिए तैयार हो गया। किसान ने साहूकार से कहा कि वह ब्याज को भी मूलधन में जोड़ता रहे।

जब वह लड़का बीस साल का हुआ, साहूकार ने बताया कि चूंकि उसकी रकम चक्रबृद्धि ब्याज से बढ़ रही थे इसलिए उसने चांदी के जो दस सिक्के जमा किये थे, वे अब बढ़कर साढे तिस सिक्के हो गए है। चुकी उसके पुत्र को अभी धन की ज़रूरत नहीं थी इसलिए उसने वह धन साहूकार के पास हे रहने दिया जब पुत्र 50 साल का हुआ तो साहूकार ने हिसाब चुकता करते हुए उसके पुत्र को चांदी के 175 सिक्के दिए। कंपाउंड इंटरेस्ट के वजह से किसान का धन लगभग 17 गुना बढ़ गया।

तो दोस्तों खाली पर्स का तीसरा इलाज है हर सिक्के से मेहनत करवाते रहे जब तक की यह और सिक्के पैदा न कर दे और सुनिश्चित करें की हर सिक्के का निवेश आपको आमदनी देता रहे और धन की धरा लगातार आपके पर्स यानी बैंक में बहकर आती रहे। (The richest man in Babylon in Hindi)

4. अपनी पूंजी की रक्षा करें

निवेश का पहला दमदार सिद्धांत है आपके मूलधन की सुरक्षा। अगर मूलधन के चले जाने का खतरा हो, तो क्या ज़्यादा कमाई के लालच में पड़ना समझदारी है? मुझे तो इसमें ज़रा भी समझदारी नज़र नहीं आती है। अगर आप इतना बड़ा जोखिम उठाते है, तो इसकी सजा ये होगी की शायद आप अपना मूलधन भी गँवा दें। अपनी जमापूँजी का निवेश करने से पहले सावधानी से जाँच-पड़ताल करें। पहले पूरी तरह आश्वस्त हो जाएँ की अपकी पूँजी सुरक्षित लौट आएगी।

फटाफट अमीर बनने के चक्कर में ग़लत दिशा में न चले जाएँ और अति आत्मविश्वाश में आकर अपनी पूँजी का ऐसी जगह पर निवेश न करें, जहाँ उसके डूबने का खतरा हो। बेहतर यह होगा कि आप अपने धन के प्रबन्धन में अनुभवी लोगों की समझदारी भरी सलाह लें। यही खाली पर्स का चौथा इलाज है। क्योकि यह पर्स के भर जाने के बाद उसे खाली होने से बचाता है। इसलिए अपनी जमापूँजी को नुकसान से बचाएँ और सिर्फ़ वहीं निवेश करें, जहाँ आपका मूलधन सुरक्षित रहे, जहाँ आप जब चाहें, इसे दुबारा वापस पा सकें और जहाँ आपको उचित ब्याज लगातार मिलता रहे। (The richest man in Babylon in Hindi)

5. अपने घर को लाभकारी निवेश बनाएँ

आर्केड ने पांचवा सबक सिखाते हूँ कहा कि इंसान अपनी आमदनी का दसवा हिस्सा इसलिए अलग रखता है, ताकि वह भविष्य में जीवन का आनंद ले सके अगर वह अपनी आमदनी से बचे हुए 90% में भी कुछ बचा ले और उसका लाभकारी निवेश करे तो उसका खजाना तेजी से बढ़ेगा। आर्केड कहतें है कि हर आदमी का अपना खुद का माकन होना चाहिए जिसमे वह और उसका परिवार रह सके। गृहस्वामी बनने वाले व्यक्ति को बहुत से लाभ होते है इससे उसका खर्च भी बहुत कम हो जाता है, जिससे उसकी आमदनी का अधिक हिस्सा उसकी इच्छाओं की संतुष्टि के लिए उपलब्ध होता है और यही खाली पर्स का पांचवा इलाज है अपने घर के मालिक बनें।

6. भावी आमदनी सुनिश्चित करें

भविष्य के लिए धन सुरक्षित रखने के उद्देश्य से इंसान घर या जमीन खरीद सकता है। अगर समझदारी से घर या जमीन को चुना जाए, ताकि भविष्य में भी उसकी उपयोगिता तथा मूल्य में वृद्धी हो, तो ऐसा करना लाभकारी है। भविष्य में इस जायदाद को बेचकर अपने लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

इसके अलावा, इंसान नियमित रूप से बैंक में छोटी-छोटी राशियाँ जमा करके अपने धन को बढ़ा सकता है। जब नियमित रूप से जमा करने पर छोटी राशि इतने लाभकारी परिणाम देती है, तो किसी व्यक्ति का व्यवसाय या निवेश कितना ही समृद्ध हो, उसे यह व्यवस्था कर लेना चाहिए की उसके बुढ़ापे और परिवार की रक्षा के लिए पर्याप्त दौलत हो।

संसाधनों का लाभ उठाकर अपने लक्ष्य को हासिल करने के दूसरे तरीके खोजना चाहिए। इसी वजह से मैं सब लोगों को सुझाव देता हूँ की वे अच्छी तरह सोचकर समझदारीपूर्ण तरीकों से अपने बुढ़ापे के लिए धन की व्यवस्था कर लें। क्योकि जब कोई आदमी कमा नहीं सके या जब परिवार का मुखिया चला जाए, तो खाली पर्स बहुत दुख का कारण बन जाता है।

तो खाली पर्स का छठवाँ इलाज यह है: अपने बुढ़ापे और अपने परिवार की रक्षा के लिए पहले से ही व्यवस्था कर लें।

7. अपनी आमदनी की क्षमता बढ़ाएँ

उपलब्धि से पहले उसकी इच्छा होना चाहिए। आपकी इच्छाएँ प्रबल और निश्चित होना चाहिए। ” सामान्य इच्छाएँ सिर्फ़ कमजोर चाहत होती है। अगर किसी इंसान में सिर्फ़ अमीर बनने की चाहत है, तो उससे कोई फ़ायदा नहीं होगा। परंतु जिस व्यक्ति में 5000 कमाने की इच्छा है, उसकी इच्छा निश्चित है और वह इसे पूरा कर सकता है।

जब वह इसे हासिल करने के लिए लक्ष्य की शक्ति का प्रयोग करेगा और सफल हो जाएगा, तो अगली बार वह 10000 कमाने के लिए उन्हीं तरीकों का प्रयोग कर सकता है। फिर 20000 के लिए और बाद में एक लाख के लिए। और देखते ही देखते वह अमीर बन जाएगा। अपनी एक निश्चित छोटी इच्छा को पूरी करना सीखकर उसने बड़ी इच्छा पूरी करने का प्रशिक्षण पा लिया है। इसी प्रक्रिया से दौलत हासिल की जाती है: पहले छोटी राशि, फिर उससे बड़ी राशि, जब तक की इंसान सीखकर ज़्यादा सक्षम नहीं बन जाता।

हमारे पास जितना ज्ञान होता है, हम उतना ही ज़्यादा कमा सकते है। जो व्यक्ति अपनी कला में ज़्यादा निपुणता हासिल करने की कोशिश करता है, उसे उसके अच्छे पुरस्कार मिलते है। अगर वह कारीगर है, तो वह अपने व्यवसाय के सर्वाधिक योग्य व्यक्ति से सीख सकता है। अगर वह कानून या उपचार के क्षेत्र में मेहनत करता है, तो वह अपने व्यवसाय के बाकी लोगों से विचार-विमर्श कर सकता है या उनकी सलाह ले सकता है। अगर वह व्यापारी है, तो वह लगातार अच्छी चीजों की तलाश कर सकता है, जिन्हें कम कीमतों पर ख़रीदा जा सकें।

ये भी पढ़ें :

दोस्तों आज की आर्टिकल (The richest man in Babylon in Hindi) में बस इतना ही, उम्मीद है आपको ये पसन्द आया होगा। कमेंट करके बताये की आपको आर्टिकल (The richest man in Babylon in Hindi) कैसा लगा। अगर आप इस बुक का कम्पलीट वीडियो समरी देखना चाहते है तो ऊपर दिए लिंक से देख सकते है। लेटेस्ट वीडियो को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना न भूले।

यदि आपके पास हिंदी में कोई article, business idea, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: storyshala@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे।

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया

Wish You All The Best

S.K. Choudhary

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, मेरा नाम है S.K. Choudhary (ऐस. के. चौधरी) और मैं एक ब्लॉगर और यूटूबर हूँ। में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और मेरा highest एजुकेशन MBA Finance है। मुझे पढ़ने और पढ़ाने का शोख है इसलिए में पार्ट टाइम मैं ब्लॉग लिखता हूँ और यूट्यूब के लिए बुक समरी और मोटिवेशनल वीडियो बनता हूँ।

1 thought on “The richest man in Babylon in Hindi”

Leave a Comment