मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)

मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi), Negotiation Skills in Hindi, मोलभाव कैसे करें, मोलभाव, सौदेबाज़ी कैसे करें, Bargaining skill in Hindi – आज में ब्रायन ट्रेसी की बुक निगोसिएशन की समरी आपसे शेयर करूँगा जिससे आप सीखेंगे कि सही तरीके से मोल भाव या सौदेबाजी कैसे करें। तो बिना किसी देरी की करते है काम की बात

मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)

Negotiation-Skills-in-Hindi

मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)

Tip No. 1 चौंकना

सामने वाला चाहे जो प्राइस बताए, आप चौक जाईये, और ऐसे रियेक्ट कीजिये जैसे आपको सामने वाले के बातों से गहरा सदमा लगा है और बहुत दुखी है। अपनी आँखे ऊपर घुमाइए और दोबारा नीचे लाईये जिससे सामने वाले को लगे की आपको उनकी बातों से भारी दर्द का अनुभव हुआ है और लास्ट में कहें की, “ओह! यह तो बहुत ज़्यादा है!

आश्चर्यजनक बात यह है कि कई बार आपके चौंकने भर से ही सामने वाला तुरंत प्राइस बदल देगा। अगर पहली बार चौकने से आपको खरीदते समय कम प्राइस मिल जाए या बेचते समय ज़्यादा प्राइस मिल जाए, तो पूरी सौदेबाजी में चौकने की युक्ति का बार-बार इस्तेमाल करिये।

Negotiation Skills in Hindi

Tip No. 2 सवाल पूछें

जब भी आप किसी खरीददारी के लिए जाये तो दूकानदार से सवाल करें “क्या यह सबसे अच्छा मूल्य है, जो आप दे सकते है? क्या आप इससे बेहतर कुछ नहीं कर सकते?”

जब आपके भाव पूछने पर सामने वाला भाव बताता है, तो ठहरें, हैरान या सदमे में दिखें और दुबारा पूछें, “क्या यह सबसे अच्छा है, जो आप कर सकते है?” और फिर पूरी तरह खामोश हो जाएँ। यदि कोई गुन्जाईस होगा तो सामने वाला या तो भाव कम कर देगा या दूसरी तरह से आपको लाभ पहुँचाएगा।

जब आप प्रश्न पूछते है कि क्या यह “सबसे अच्छा रेट है, जो आप दे सकते है,” और इस पर सामने वाला भाव काम कर दे, तो फिर कहें, “क्या यह सबसे ज़्यादा अच्छा है, जो आप कर सकते है?” सबसे कम भाव और सबसे अच्छी शर्ते के लिए दबाव डालते रहे।

Top 8 Negotiation Skills in Hindi

Tip No. 3 दृढ कथन

किसी खास सामान के लिए dukandar आपको जो भी रेट बताएँ, आप तुरंत जवाब दें, “मैं इसे किसी दूसरी जगह से ज़्यादा सस्ते में ले सकता हूँ।” जब भी आप सेलसपीपुल को बताते है कि आप वह सामान उनके किसी कॉम्पिटिटर से ज़्यादा सस्ते में ले सकते है, तो वे तुरंत नरम पड़ जाते है और रेट कम करने लगते है। “मैं इसे किसी दूसरी जगह से ज़्यादा सस्ते में ले सकता हूँ,” यह दृढ कथन अक्सर भाव से प्रतिरोध को मिटा देता है, क्योंकि बेचने वाला अब सोचता है कि आप कही और चले जाएँगे।

याद रखें, इस तरह की सौदेबाजी में भी हमेशा मित्रतापूर्ण और हँसमुख रहें। जब आप सुखद तरीके से पूछते हैं, तो आपके गंभीर या आक्रामक अंदाज में रहने के बजाय इससे सामने वाला आपकी बात ज़्यादा आसानी से मान लेता है।

Bargaining skill in Hindi

Tip No. 4 आधी कीमत की पेशकश

जब कोई आपसे 1000 रुपया माँगे, तो आप अपने जवाब में उसे आधी कीमत बताईये और कहिये की मैं आपको इसी समय 500 रुपये नकद देने को तैयार हूँ। “

जब भी आप तुरंत नकद पैसे देने की पेशकश करते है, तो सामने वाले पक्ष का भाव प्रतिरोध नाटकीय रूप से कम हो जाता है।

आईये एक और उदाहरण देखते हैं। मान लेते हैं कि आपने 1000 रुपये के सामान के लिए 500 रुपये का प्रस्ताव दिया और बेचने वाला 600 रुपये की पेशकश के साथ लौटा। अक्सर आप पाएँगे की अगर आप भाव को मूर्खतापूर्ण हद तक कम कर देते हैं, तब भी बेचने वाला आपको पहले बताए भाव से काफी कम में बेचने को तैयार हो जाएगा।

ये अभी पढ़ें: The Code of the Extraordinary Mind book summary in Hindi

सौदेबाज़ी कैसे करें

Tip No. 5 अतिरिक्त चीजे जोड़ दें

आप मूल सामान में ऐड-ऑन या अतिरिक्त चीज जोड़ने का आग्रह करते हैं। आप इस तरह की बात कहते हैं, “ठीक है, अगर आप मुक्त डिलीवरी देते है, तो मैं इस भाव पर तैयार हूँ। अगर सामने वाला पक्ष सौदे में अतिरिक्त चीजे जोड़ने के बारे में हिचके, तो आप सुखद अंदाज में कह सकते है,” अगर आप मुफ्त डिलीवरी नहीं देंगे, तो मैं सौदा नहीं करूँगा।

दोस्तों आप इसको इस तरह से कर सकते है, पहले मुख्य सामान को खरीदने पर सहमत हों जाईये। भाव और शर्तो पर सहमत हो जाईये। ऐसा नज़र आने दीजिये, मानो सौदा पूरा हो गया हैं। बेचने वाला सोचता है कि उसने वह सामान एक ऐसे भाव पर बेच दिया है, जिसे पाकर वह खुश है। तब आप अतिरिक्त सामान जोड़ने का आग्रह कीजिये। यह तकनीक हमेशा काम करती है, भले ही आप जो ‘सामान’ खरीद रहे है, वह मकान या कार ही क्यों न हों।

मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)

Tip No. 6 सुकरात के तरीके का इस्तेमाल करें

सुकरात ने कहा था। “सबसे पहले तो उन सभी क्षेत्रों पर निर्णय लें, जहाँ आप सहमत हो। इसके बाद ही ज़्यादा विवादास्पद क्षेत्रों की ओर बढे, जहाँ आपकी राय में भिन्नता हों।”

सौदेबाजी या विचार-विमर्श की शुरुआत में आपको एक बार में एक-एक करके हर चीज पर बातचीत करनी चाहिए। आप पाएँगे की हमेशा बहुत सारे ऐसे मुददे होते है, जिन पर आप दोनों सहमत होते हैं और मान लेते है। जब आप दोनों ही बहुत से मुददे पर सहमत हो जाते हैं, तो समझौते पर पहुँचने के लिए एक सकारात्मक गति बन जाती हैं।

मोल भाव कैसे करें

Tip No. 7 चीजों को टाल दें

जब भी आप किसी सौदेबाजी में विभिन्न मुददे पर बात कर रहे हों और आप किसी ऐसे बिंदु पर पहुँचते हैं, जिससे सामने वाला असहमत है या जिसके बारे में वह अडिग है, तो आप-आप कहिये की हम इसपे दोबारा विचार करेंगे।

आप किसी कंट्रोवर्सिअल इश्यूज को जितनी तेजी से पार करते है, सामने वाले व्यक्ति की नकारत्मकता और प्रतिरोध उतना ही कम होगा। आप शुरुआत में जितने ज़्यादा मुददे पर सहमत होते है, सामने वाले के लिए बाद में दूसरे मुददे पर सहमत होना उतना ही ज़्यादा आसान होता है। शुरुआत में चर्चा को सुचारु और आसान बनाने का फायदा यह होगा कि सामने वाला विनिमय करके बाद वाले मुददे को सुचारु और आसान बनाना चाहेगा।

किसी सौदेबाजी की शुरुआत में लेने वाले के बजाय ‘देने वाला’ बने। सामने वाले के साथ सहमत होने के हर तरीके की तलाश करें। इस तरह आप सामने वाले व्यक्ति में आपके साथ सहमत होने की इच्छा को ज़्यादा प्रेरित कर देंगे।

Tip No. 8 लगातार ज़्यादा विकल्प सोचते रहें

जिस प्रोडक्ट या सेवा पर बातचीत हो रही है, उसके अन्य स्रोत खोजने के लिए होमवर्क और Reserch करें। पता लगाएँ की इसके लिए कितना भुगतान देना उचित रहेगा और डिलीवरी का समय या तारीख क्या हो सकती है। जब आपके पास बहुत सारे विकल्प होते है, तो आप शांत और तनावरहित होकर सौदेबाजी करने जा सकते है, जिससे आपको पूरी सौदेबाजी में उदासीनता कि शक्ति का लाभ होते है, तो आप सामने वाले की शर्तो को स्वीकार करने के लिए स्वतंत्र होते है। इसके फलस्वरूप आपको हमेशा बेहतर सौदा मिलेगा।

तो दोस्तों इस आर्टिकल (मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)) में बस इतना ही आपको ये आर्टिकल (मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)) कैसी लगी हमें कमेन्ट कर के जरूर बताये। अगर आप इस बुक का कम्पलीट वीडियो समरी देखना चाहते है तो ऊपर दिए लिंक से देख सकते है। हमारे लेटेस्ट वीडियो को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना न भूले।

यदि आपके पास हिंदी में कोई article, business idea, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: storyshala@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे।

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया

Wish You All The Best

मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)

S.K. Choudhary

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, मेरा नाम है S.K. Choudhary (ऐस. के. चौधरी) और मैं एक ब्लॉगर और यूटूबर हूँ। में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और मेरा highest एजुकेशन MBA Finance है। मुझे पढ़ने और पढ़ाने का शोख है इसलिए में पार्ट टाइम मैं ब्लॉग लिखता हूँ और यूट्यूब के लिए बुक समरी और मोटिवेशनल वीडियो बनता हूँ।

1 thought on “मोलभाव कैसे करें (Negotiation Skills in Hindi)”

  1. thanks for shaing the details,
    Hindi me important content bahut kam milte hain.
    thanks hindi me likhne ke liye, pls aise hi likhte rahein.
    bahut bahut dhanyawad.

    Reply

Leave a Comment